पोस्ट

अगस्त, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

प्लान की Beginning शुरुआत कैसे करें ? Direct Selling Networking Marketing Training.

चित्र
""""""__ Creator By Md Nasir Sir__""""""

Official Website : www.nssacademy.in 
________________________________________________________________________________________________
• प्लान दिखाने से पहले जॉइनिंग कैसे कराएं।
• Direct Selling Networking Marketing Training.
• Sir, समय दुनिया की सबसे कीमती चीज है।
• तो समय को बिल्कुल भी बर्बाद किये बिना ।
• मैं आपको अगले 2 Minute के अन्दर में आज की Meeting का Purpose (उद्देश्य मकसद) समझा सकता हूँ ।
• क्या आप मुझे 2 Minute देने को तैयार हैं ।
• आज दुनिया में हर आदमी भाग रहा है आप Road सड़क में देखेंगे तो हर आदमी भाग रहा है।
• कोई Job नौकरी कर रहा है तो कोई Business कर रहा है, तो कोई दुकान चला रहा है ।
• लेकिन हर आदमी भाग रहा है, क्यों भाग रहा है ।
• क्यों के सब को (Money ) पैसा चाहिए ।
• अब पैसा कमाने के पीछे इन्सान का एक मकसद होता है ।
• जिस को हम सपना भी कहते हैं ।
• दुनिया में हर आदमी का कोई ने कोई सपना होता है।
• और हमारे 90 % सपना Common होते हैं जैसे..की....
1. एक अच्छा घर 
2. खुबसूरत सा गाड़ी 
3. बच…

English Speech Teachers Days

चित्र

This is my first blog post

चित्र
अबुल पाकिर जैनुलअब्दीन अब्दुल कलाम मसऊदी अथवा ए॰ पी॰ जे॰ अब्दुल कलाम मसऊदी (अंग्रेज़ी: A P J Abdul Kalam), (15 अक्टूबर 1931 – 27 जुलाई 2015) जिन्हें मिसाइल मैन और जनता के राष्ट्रपति के नाम से जाना जाता है, भारतीय गणतंत्र के ग्यारहवें निर्वाचित राष्ट्रपति थे। वे भारत के पूर्व राष्ट्रपति, जानेमाने वैज्ञानिक और अभियंता(इंजीनियर) के रूप में विख्यात थे। अब्दुल कलाम के विचार आज भी युवा पीढ़ी को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करते हैं। इन्होंने मुख्य रूप से एक वैज्ञानिक और विज्ञान के व्यवस्थापक के रूप में चार दशकों तक रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) और भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) संभाला व भारत के नागरिक अंतरिक्ष कार्यक्रम और सैन्य मिसाइल के विकास के प्रयासों में भी शामिल रहे। इन्हें बैलेस्टिक मिसाइल और प्रक्षेपण यान प्रौद्योगिकी के विकास के कार्यों के लिए भारत में 'मिसाइल मैन' के रूप में जाना जाता है। इन्होंने 1974 में भारत द्वारा पहले मूल परमाणु परीक्षण के बाद से दूसरी बार 1998 में भारत के पोखरान-द्वितीय परमाणु परीक्षण में एक निर्णायक, संगठनात्मक, तकनीकी और राजनैतिक भूम…