पोस्ट

सितंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

इटली का एकीकरण विश्व इतिहास ( World History Integration of Italy )

इमेज
  👉 YouTube /Higher Study Point araria   SUBSCRIBE   Now 🎯 1.      19 सदी के पूर्वर्द्ध में इटली में कितने राज्य ? ( A) 5 राज्य (B) 8 राज्य (C) 12 राज्य (D) 13 राज्य       उत्तर: 13 राज्य   2.      इटली के एकीकरण का जनक किसे माना जाता है? (A) अब्राहम मेजिनी (B) राहिमन मेजिनी (C) जोसेफ मेजिनी (D) हेमन मेजिनी       उत्तर: जोसेफ मेजिनी   3.    मेजिनी का जन्म कहां हुआ था ? (A) मेजोरम (B) नासिको 👉 YouTube /Higher Study Point araria   SUBSCRIBE   Now 🎯 (C) रूसो (D) जेनेवा       उत्तर: जेनेवा   4.      इटली के एकीकरण में सबसे बड़ा बाधक कौन था? (A) अमेरिका (B) तुर्की (C) आस्ट्रिया (D) जापान   उत्तर: आस्ट्रिया   5.      किस राज्य ने इटली के एकीकरण में अगुआई की ? (A) सार्डनिया पीडमौंट (B) सिसिली पीडमौंट (C) केटेनिया पीडमौंट (D) टोरीनो पीडमौंट   👉 YouTube /Higher Study Point araria   SUBSCRIBE   Now 🎯   उत्तर: सार्डनिया पीडमौंट   6.      किसने इटली की समस्या को अंतर्राष्ट्रीय समस्या बना दिय

बिहार पंचायत राज्य अधिनियम, 1993 , Bihar Panchayat State Act, 1993

इमेज
            [बिहार अधिनियम संख्या 19, 1993] बिहार पंचायत राज्य अधिनियम 1947 और बिहार पंचायत समिति एवं जिला परिषद अधिनियम 1961 को निरस्त और प्रतिस्थापित करने के लिए अधिनियम। उद्देश्य एवं हेतु - 73वां संविधान संशोधन अधिनियम 1912 के प्रभावी होने के फलस्वरूप यथा उसमें समागम परियोजनों, सारभुत तथ्यों और दिशा निर्देशनों को मूर्त रुप देने के लिऐ बिहार पंचायत राज्य अधिनियम, 1947 तथा बिहार पंचायत समिति तथा जिला परिषद अधिनियम,1961 को निरसित कर नया अधिनियम बनाना आवश्यक हो गया है ।         इस विधेयक द्वारा राज्य में ग्रमीण, परखनड ऐवं जिला स्तर पर त्रिस्तरीय पंचायत राज व्यवस्था के माध्यम से निर्वाचित निकायों में अधिकाधिक लोगों की भागीदारी हो ताकी आर्थिक विकास ऐवं समाजिक न्याय के लिए बनाई गई योजनाओं की प्रभावकारी तैयारी एवं का कार्यान्वयन हो इसकी व्यवस्था की गई है।                  ये विधेयक पंचायतों को ऐसी कार्यो एवं शक्तियों से संपन्न करने हेतु है जिससे कि वे स्थानीय स्वशासन की जीवंत संस्थाओं के रूप में कार्य कर सके और निश्चितता, निरंतरता , ऐवं लोकतांत्रिक भावना और मर्यादा प्रदान करने के अतिरिक्त अ